Back

 

26 जनवरी,2006 को शुरू की गई स्कीम

 
 

पूरे किराए का भुगतान करने वाले प्रतीक्षासूची यात्रियों को अगली उच्चतर श्रेणी में अपग्रेड करने की स्कीम के अंतर्गत प्रारंभ में प्रयोग के आधार पर 2 जोड़ी गाड़ियों को शामिल किया जाएगा, जो 26 जनवरी, 2006 से प्रभावी है


एक प्रमुख कार्य के रूप में, जिससे न केवल प्रतीक्षासूची यात्रियों को लाभ होगा वरन् विभिन्न गाड़ियों में रिक्त स्थान भरने की दृष्टि से रेलवे को भी लाभ होगा,  रेलवे ने पूरे किराए का भुगतान करने वाले प्रतीक्षासूची यात्रियों को उपलब्ध खाली स्थान पर अगली उच्चतर श्रेणी में अपग्रेड करने के लिए दिनाँक 26 जनवरी, 2006 से प्रायोगिक आधार पर एक स्कीम लागू की थी.  प्रारंभ में यह स्कीम केवल 2 जोड़ी गाड़ियों, अर्थात् 2951/2952 मुंबई सेंट्रल-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस और 2953/2954 मुंबई सेंट्रल-हजरत निज़ामुद्दीन अगस्त क्रान्ति एक्सप्रेस, में लागू की गई थी.  इस स्कीम की महत्वपूर्ण विशेषताएं इस प्रकार हैं:-  प्रारंभ में यह स्कीम पायलट परियोजना के रूप में आरक्षित शयन स्थान वाली कुछ चुनिंदा गाड़ियों में लागू की गई थी.  बाद में यह स्कीम 24.2.2006 से सभी मेल/एक्सप्रेस गाड़ियों और ग्रीष्म/शीत/ अवकाश के दौरान चलने वाली और 3 एसी कोच वाली सभी विशेष गाड़ियों के लिए लागू कर दिया गया (रेलवे बोर्ड का दिनाँक 21.3.2006 का पत्र सं. 2005/टीजी1/20/अपग्रेडेशन).  यह स्कीम उन गाड़ियों के लिए नहीं है जिनमें केवल बैठने का स्थान अर्थात् द्वितीय शयनयान, कुर्सीयान और ईसी श्रेणियां हों.  यह स्कीम केवल उन यात्रियों के लिए लागू है जिन्होंने अपनी टिकटें पूरा किराया देकर बुक कराई हैं.  रियायती टिकट/निशुल्क पास धारक जिनमें रियायत पर यात्रा करने वाले वरिष्ठ नागरिक शामिल हैं, अपग्रेड नहीं किए जाएंगे.  ब्लाक बुकिंग संव्यवहारों के लिए अपग्रेडेशन नहीं किया जाएगा.  अपग्रेडेशन चार्ट तैयार किए जाने के समय पीआरएस द्वारा स्वत: ही हो जाएगा.  गाड़ी कंडक्टर/टिकट परीक्षक को गाड़ी में इस स्कीम के अंतर्गत किसी यात्री को अपग्रेड करने का कोई प्राधिकार नहीं होगा.  बहरहाल, बुकिंग, आरक्षण अथवा जाँचकर्ता कर्मचारियों द्वारा पूरे किराए का अंतर वसूल करने पर पहले की तरह अपग्रेडेशन की वर्तमान प्रणाली जारी रहेगी.  यदि कोई यात्री, जिसे अपग्रेड किया गया है, अपना टिकट रद्द कराता है तो केवल मूल श्रेणी का रद्दकरण प्रभार ही देय होगा.  यात्रियों का अपग्रेडेशन केवल एक श्रेणी ऊपर ही किया जाएगा अर्थात् शयनयान को 3 एसी/प्रथम श्रेणी, 3 एसी को 2 एसी और 2 एसी को 1 एसी.  केवल प्रतीक्षासूची यात्रियों को ही कन्फर्म सीट उपलब्ध कराई जाएगी.  शेष खाली शायिकाएं मौजूदा परिपाटी के अनुसार करंट काउंटरों पर बुकिंग के लिए अंतरित कर दी जाएंगी.  इस प्रकार, यदि किसी गाड़ी के लिए कोई प्रतीक्षा सूची नहीं है तो कोई अपग्रेडेशन नहीं होगा.  कन्फर्म यात्रियों की शायिकाएं, जिन्हें उच्चतर श्रेणी में अपग्रेड कर दिया गया है, उस श्रेणी के आरएसी/प्रतीक्षासूची यात्रियों को आबंटित कर दी जाएंगी.  अगर फिर भी कुछ शायिकाएं खाली रहती हैं तो वे शायिकाएं अगली निम्नतर श्रेणी के कन्फर्म यात्रियों को आबंटित की जाएंगी.  एक पीएनआर (अधिकतम 6) के सभी यात्रियों को एक साथ अपग्रेड किया जाएगा और अपग्रेडेशन के लिए पर्याप्त शायिकाएं उपलब्ध न होने की स्थिति में उनमें से किसी को भी अपग्रेड नहीं किया जाएगा.  यात्रियों को उनकी पसंद, अर्थात् शयनयान से एसी/प्रथम श्रेणी कोच, केबिन शायिका से साइड बर्थ, निचली शायिका से ऊपर की शायिका, केबिन लेवल कम्पेक्ट स्थान से कोच लेवल कम्पेक्ट स्थान में, का ध्यान रखे बिना अपग्रेड किया जाएगा.  बहरहाल, यदि कोई यात्री बुकिंग के समय मांगपत्र में अपग्रेडेशन के लिए “नहीं” विकल्प का प्रयोग करता है तो अपग्रेडेशन के लिए पीआरएस द्वारा उसके पीएनआर पर विचार नहीं किया जाएगा.   ऐसा दल, जिसमें पूरे किराए का भुगतान करने वाले और रियायत पर यात्रा करने वाले यात्री शामिल हों, अपग्रेड नहीं किया जाएगा, ताकि वे तितर-बितर न हो जाएं.  अपग्रेड किए गए यात्रियों का मूल पीएनआर अपरिवर्तित रहेगा और मूल पीएनआर के संबंध में पूछताछ करने पर पीआरएस, आईवीआरएस आदि से सभी सूचना उपलब्ध कराई जाएगी.  चूँकि यात्रियों, जिन्हें पहले कन्फर्म सीट उपलब्ध कराई गई थी, के कोच संख्या और शायिका संख्याओँ में परिवर्तन हो जाएगा इसलिए अपग्रेड किए जाने पर उन यात्रियों को शायिकाएं ग्रहण करने से पूर्व अंतिम रूप से अपना कोच नंबर और शायिका नंबर की जाँच करने की आवश्यकता होगी.  यात्रियों की मूल श्रेणी के चार्ट में चार्ट के बिल्कुल नीचे मूल शायिका संख्या, जिसे अपग्रेड किया गया है, देते हुए एक संकेत होगा.  अपग्रेड श्रेणी के अंतिम चार्टों में अपग्रेड किए गए यात्रियों के नाम के आगे उनका आबंटित अपग्रेड कोच और शायिका संख्या का उल्लेख होगा और उनकी अपग्रेड स्थिति को दर्शाते हुए एक संकेत होगा.  प्रतीक्षा सूची चार्ट की तरह एक पृथक शीट भी होगी जिस पर अपग्रेड किए गए यात्रियों की पुरानी स्थिति और नई स्थिति दी गई होगी.